कोरोना वायरस से बचने के उपाय। 1. अपने घरों से बाहर ना निकले, 2. अगर कभी बाहर जाना भी पड़े तो मुह पर face Mask लगाकर ही निकले, 3. बाहर से घर पर आने के तुरंत बाद अपने कपड़ों को धोएं और खुद भी अच्छे से नहाए, 4. जब तक ये वायरस खत्म नही हो जाता तब तक किसी के घर का कुछ भी ना खाएं, 5. भीड़ वाले इलाके में जाने से बचे, 6. अगर आपको या किसी को भी खासी, बुखार, गले मे दर्द है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाए,

Tuesday, 24 November 2020

गुरुनानक जयंती क्यो मनाई जाती है

हेलो दोस्तो, आज मैं एक बार फिर से आप लोगो के लिए अपनी एक नई पोस्ट ओर नई जानकारी लेकर हाजिर हो गया हूँ। आज की इस पोस्ट में मैं आपको गुरु नानक जयंती के बारे में बताने जा रहा हूं। आज मैं आपको बताऊंगा की Guru Nanak जयंती क्यो मानते है और इसका क्या महत्व है। तो चलिए ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए सीधे मुद्दे पर आते है और जानते है गुरु नानक जयंती क्यो मनाते है। 

गुरुनानक जयंती क्यो मानते है



इससे पहले मैंने आपको अपनी पोस्ट में बताया था कि हम करवाचौथ का त्योहार क्यो मनाते है और साथ मे ये भी बताया था कि धनतेरस के त्योहार क्यो मनाया जाता है। अगर आपने मेरी वो पोस्ट अभी तक नही पढ़ी है तो आप ऊपर पिले रंग के लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते है। इसके अलावा अगर आपको किसी भी त्योहार के बारे में जानना है तो आप Festival यहां क्लिक करें। फिलहाल अब हम गुरि नानक जयंती के बारे में जानते है।

Releted Post :- 

गुरु नानक जयंती :-
गुरु नानक देव सिख धर्म के सबसे पहले सिख थे। उन्होंने ही सिख धर्म की नींव रखी थी। उन्होंने अपने पूरा जीवन मानव सेवा में लगा दिया। गुरु नानक जयंती गुरु नानक जी के जन्मदिन पर मनाई जाती है। वैसे तो गुरु नानक जी का जन्म 15 अप्रैल 1469 को राय भोई की तलवंडी में हुआ था जो अब पाकिस्तान में है। 

लेकिन हम सभी गुरुनानक जयंती 15 अप्रैल को ना मनाकर कार्तिक महीने की पूर्णिमा को मनाते है। जो दीपावली के ठीक 15 दिनों के बाद आती है। 

Related Post :- 

जयंती पर क्या होता है :- 
इस दिन सभी गुरूद्वारों को सजाया जाता है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में गुरु नानक जी का एक बहुत बड़ा गुरुद्वारा है जिसकी शोभा इस दिन देखने से ही बनती है। साथ ही में अमृतसर के स्वर्ण मंदिर के बारे में तो आप जानते ही होंगे। उसे भी पूरा रोशनी से जगमग किया जाता है। 

केवल भारत के ही नही बल्कि पूरे संसार मे जितने भी गुरुद्वारे है सभी को रंगबिरंगी लाइट से सजाया जाता है। लंगर चलाये जाते है। जिनका स्वाद तो लंगर खाने के बाद ही आता है। अगर आप कभी गुरुद्वारे में लंगर नही खाया है तो आपने कुछ भी नही किया। 

तो दोस्तो, अब आप जान गए होंगे कि गुरु नानक जयंती क्यो मनाई जाती है। उम्मीद है कि आप सब को मेरी ये पोस्ट पसंद आई होगी। अगर अभी भी आपको मेरी इस पोस्ट को लेकर की परेशानी है तो आप मुझे कमेंट कर सकते है। मैं आपकी कमेंट का जल्दी ही जवाब दूंगा। धन्यवाद।

Tag Lines :- 
Guru nanak jayanti kyo manate hai, guru nanak jayanti ke baare me hindi me jankari, guru nanak dev ji kon the, parkash parv kya hai, why we celebrate guru nanak jayanti, 




No comments:

whatsapp पर लड़की को hmm के बाद क्या रिप्लाई करना चाहिए हिंदी में पूरी जानकारी

हेलो दोस्तों, मैं एक बार फिर से आप लोगो के साथ अपनी एक नई पोस्ट और नई जानकारी लेकर हाजिर हो गया हूँ. आज की मेरी ये पोस्ट उन सभी लड़के और लड़क...