अंदर की बात

यहां पर आपको जनरल नॉलेज , मोबाइल एप्लीकेशन, इंटरनेट नॉलेज, त्यौहार, हिन्दू रीती रिवाज के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी. इसलिए हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करना ना भूले

Thursday, 1 March 2018

होली का त्यौहार क्यों मनाया जाता है हिंदी में जानकारी


हेलो दोस्तों, होली आने वाली है और आप सब जानते हो कि होली का त्यौहार भारत का सबसे ख़ुशी का त्यौहार माना जाता है. इस दिन लोग आपस में एक दूसरे पर रंग की बरसात करके ख़ुशी से झूमते नाचते है. ये दिन होता ही इतना प्यारा है कि इस दिन लोग अपनी दुश्मनी भुला देते है और आपस में गले मिलते है. आज मैं आपको यहां पर होली का इतिहास बताने के लिए ये पोस्ट लिख रहा हूँ. तो चलिए समय बर्बाद ना करते हुए सीधे मुद्दे पर आता हूँ.
holi ka tyohaar kyo manaya jata hai

प्राचीन काल में हिरणकश्यप नाम का एक राक्षस हुआ करता था जो अमर होना चाहता था और भगवन विष्णु से बदला लेना चाहत था क्योकि भगवन विष्णु ने उस राजा के छोटे भाई को मारा था. इसके लिए हिरणकश्यप ने खूब तपस्या की. और आखिर में ऐसा वरदान पा ही लिया जिससे हिरणकश्यप को मारना बहुत ही मुश्किल हो गया. अब खुद को वो भगवान् मैंने लगा था और देवतागण और बाकि लोगो को डराने लगा था.


ये भी जरूर पढ़े :- सिर्फ फोटो से उसके बारे में सब कुछ कैसे जाने

हिरणकश्यप का एक बेटा था जिसका नाम प्रह्लाद था. आपको एक बात बता दूँ कि प्रह्लाद भगवान् विष्णु का परम भक्त था. हर समय भगवा विष्णु की भक्ति में खोया रहता था. लेकिन ये भक्ति हिरणकश्यप को पसंद नहीं थी. उसकी इसी भक्ति से परेशान होकर हिरणकश्यप ने अपने ही बेटे प्रह्लाद को जान से मारना चाहा लेकिन उसे मरने में असफल रहा.

ये भी जरूर पढ़े :- अपने नंबर को privet नंबर में कैसे बदले


अंत में हिरणकश्यप ने परेशान होकर अपनी बहिन होलिका को बुलाया. यहां पर मैं आपको बता दूँ कि होलिका को वरदान था कि उसे आग जला नहीं सकती थी. इस बात का फायदा देख हिरणकश्यप ने होलिका को प्रह्लाद के साथ आग में बैठने को कहा. और ऐसा हुआ भी. होलिका प्रह्लाद को साथ लेकर आग में बैठ गयी.

प्रह्लाद अपने भगवान् विष्णु की भक्ति करता हुआ आग में बैठ गया. अब हुआ ये की उस आग में प्रह्लाद की बजाये होलिका जल कर मर गयी और भगवान् विष्णु ने हिसरणकश्यप को भी मार दिया. और इसी कारण से होली मनाई जाती है. फाग के दिन से पहले दिन हम आग जलाकर होली पूजते है और वो होलिका के लिए ही पूजी जाती है.


तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आपको मेरी आज कि ये पोस्ट पसंद आयी होगी. अगर आपको आज कि मेरी ये पोस्ट पसंद आयी है तो कृपया करके इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे और अगर आपकी इस पोस्ट को लेकर कोई भी परेशानी है तो आप कमेंट बॉक्स में मुझे कमेंट कर सकते है . मुझे आपकी मदद करने में ख़ुशी होगी. धन्यवाद

tag lines :-
holi kyo manayi jati hai, why we celebrate holi, holi festival ka itihaas kya hai, holi festival kya hai ,

No comments:

Earn Talktime Application का सच || Earn Talktime Real or Fake

हेल्लो दोस्तों, आज मैं आपके सामने एक बार फिर से अपनी एक नई पोस्ट और नयी जानकारी लेकर हाजिर हो गया हूँ। आज की मेरी ये पोस्ट उन सभी लोगो...