कोरोना वायरस से बचने के उपाय। 1. अपने घरों से बाहर ना निकले, 2. अगर कभी बाहर जाना भी पड़े तो मुह पर face Mask लगाकर ही निकले, 3. बाहर से घर पर आने के तुरंत बाद अपने कपड़ों को धोएं और खुद भी अच्छे से नहाए, 4. जब तक ये वायरस खत्म नही हो जाता तब तक किसी के घर का कुछ भी ना खाएं, 5. भीड़ वाले इलाके में जाने से बचे, 6. अगर आपको या किसी को भी खासी, बुखार, गले मे दर्द है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाए,

Tuesday, 6 February 2018

इन्वर्टर बैटरी की बेसिक जानकारी हिंदी में

हेलो दोस्तों, आज मैं फिर से आप लोगो के लिए एक नई पोस्ट और नई जानकारी लेकर आ गया हूँ. आज की मेरी ये आप सभी लोगो के लिए है. आज मैं आप लोगो को इन्वर्टर और बैटरी की कुछ बेसिक जानकारी देने जा रहा हूँ. जो आप लोगो के बहुत ही काम आएगी. यहां मैं इन्वर्टर और बैटरी की कुछ ऐसी जानकारी बताऊंगा जिससे आप घर बैठे बैठे उसकी छोटी बड़ी दिक्कत ठीक कर सकते हो क्योकि अगर हम किसी बिजली मिस्त्री को बुलाये तो हमे ज्यादा महंगा पड़ जाता है तो चलिए हम सीधा मुद्दे पर आते है और इन्वर्टर बैटरी की जानकारी लेते है.
inverter battery ke baare me jankari 
Battery :- सबसे पहले मैं आपको बैटरी के बारे में बता देता हूँ. इन्वर्टर की बैटरी की लाइफ 3 से 4 साल तक ही होती है . मेरे कहने का मतलब ये है कि बैटरी कुल मिलकर 3 से 4 साल तक ही चलती है बाकि आपकी किस्मत पर निर्भर करता है. बैटरी में  पानी हमे हर 5 महीने में डालना पड़ता है. याद रहे मैं पानी बदलने की बाद नहीं कर रहा हूँ बल्कि उसमे पानी डालने की बात कर रहा हूँ.
Releted Post :- 
:- लड़की को hmm का क्या reply करे 
:- कैमरा चालू करे बिना वीडियो कैसे बनाये 
:- gmail account कैसे बनाया जाता है
:- किसी भी अनजान लड़की को वीडियो कॉल कैसे करे 
:- चूहों को मोबाइल से घर से बाहर कैसे भगाये 

यहां पर एक बात जान ले कि जब भी आप बैटरी का पानी चेक करे तो बैटरी के ऊपर या बैटरी के आसपास मोमबत्ती या कोई भी आग वाली चीज ना लाये. क्योकि जब आप बैटरी का पानी का ढक्कन खोलते हो तो बैटरी में से जो गैस निकलती है वो जवलनशील होती है . मतलब कि बैटरी आग पकड़ सकती है. बैटरी फट सकती है.  बैटरी में पानी आप RO फ़िल्टर  वाला डाल सकते है. याद रहे कि आप बैटरी में कुए या ट्यूबवेल का पानी मत डाले . ऐसा करने से आपकी  बैटरी की लाइफ कम हो सकती है.

Inverter :- अब बात इन्वर्टर की आती है. सबसे पहले मैं यहां पर इन्वर्टर और बैटरी के कनेक्शन की बात करता हूँ. इन्वर्टर में 2 तार लाल और काली रंग की दी गए होती है जो बैटरी से जुड़ती है. यहां पर मैं बता दू कि  लाल रंग कि तार बैटरी के plus  (+) point से और काले रंग कि तार minus (-) point से जुड़ती है. आप इसे गलती से भी मत जोड़िएगा. अब इन्वर्टर में एक और wire दी हुई होती है जो main plug में लगती है जो इन्वर्टर को charging कि supply देने के लिए होती है . मैं आप से कहना चाहूंगा कि ये आप किसी बिजली के मिस्त्री से ही कनेक्ट करवाए तो अच्छा होगा.

Releted Post :-
:- बिजली का बिल अचानक से ज्यादा आने लगे तो क्या करना चाहिए
:- ip address क्या होता है
:- paytm से movie ticket बुक कैसे करे 
:- राखी का त्यौहार क्यों मनाया जाता है 
:- courier कैसे किया जाता है

अब बात आती है इन्वर्टर के indicator और problem कि. हर इन्वर्टर में लगभग 5 indicator दिए हुए होते है जिसका उल्लेख मैं यहाँ पर कर रहा हूँ.

Main on :- ये indicator आप को बताता है कि आप के घर की Main light आ रही है अगर ये indicator चालू है तो आपका इन्वर्टर भी वो सप्लाई ले रहा है

Charging :- अगर ये indicator चालू है तो आपका इन्वर्टर बैटरी को चार्ज कर रहा है . ये indicator अलग अलग कंपनी के इन्वर्टर में अलग अलग तरह से काम करता है. luminous के इन्वर्टर में ये indicator  continue चलता है जबकि microtek के इन्वर्टर में ये blink मतलब चस बुझ करता है. अगर luminous के इन्वर्टर में ये indicator चस बुझ करता है तो इन्वर्टर के पीछे की तरफ एक fuse होता है आपको उसे बदलने की जरुरत है. अगर fuse बदलने के बाद भी ये indicator blink करता है तो आपको मिस्त्री बुलाने की जरुरत है.

Releted Post :-
:- Inverter लेते समय किन बातो का ध्यान रखे
:- Simple और Tubular Battery ने क्या फर्क है
:- Battery लेते समय किन बातो ध्यान रखे
:- Phone की Battery का Backup कैसे बढाए 
:- New Android Phone लेते समय किन बातो का ध्यान रखे 

Ups :- ये indicator आपको दर्शाता है कि आपके घर कि Main light जा चुकी है और इस समय इन्वर्टर काम कर रहा है अगर आपके घर की Main light है और फिर भी इन्वर्टर का ये indicator चालू है तो इन्वर्टर की Main तार जो चार्जिंग के लिए Main प्लग में दी गयी है या वो तो सही ढंग से नहीं लगी हुई है या आपके घर की Main light में कुछ दिक्कत है . मैं आपको यहां भी एक अच्छे मिस्त्री को बुलाने की सलाह देता हूँ.

Battery low :- ये indicator तब चालू होता है जब आपकी बैटरी या तो चार्ज न हो या फिर आपकी बैटरी ख़तम हो गयी हो.

Over load :- ये indicator तब चलता है जब आपके घर का लोड इन्वर्टर की क्षमता से ज्यादा हो. जब आप इन्वर्टर की क्षमता से ज्यादा लोड इन्वर्टर पर दे देते हो तो इन्वर्टर का ये indicator चालू हो जाता है और एक beep की sound देना लगता है और आपके घर की light बंद हो जाती है . ऐसे में आपको अपने घर का लोड कम करना होगा और फिर इन्वर्टर में लगे on off के बटन को reset करना होगा. तब आपके घर की light दुबारा चालु हो जाएगी.

तो ये थी कुछ जानकारी जो मैंने आपसे शेयर कर दी है. अगर आपको भी मेरी ये जानकारी अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजियेगा. और अगर आपकी इस पोस्ट से लेकर कोई भी परेशानी है तो आप मुझे कमेंट कर सकते है मुझे आपकी मदद करने में ख़ुशी होगी. तो दोस्तों मैं एक बार फिर से हाजिर होऊंगा अपनी एक नयी पोस्ट और नयी जानकारी लेकर लेकिन तब तक के लिए जय हिन्द जय भारत

TAG LINES :-
inverter battery ki jankari, battery me pani kon sa daale, inverter kaam nhi kar raha kya kare, hindi me jankari, inverter kon si company ka acha hai, inverter se battery kaise jode 

5 comments:

Unknown said...

Inverter battery ko full charge karne me baad charge karna band kar deta hai ya nahi aur inverter hamesha on rahna chahiye ya nahi

Devendra said...

Ager battery ka plus minus galat jud jaye to kya hota hai...???

आशु रावत said...

पानी वाली बैटरी ओर ड्राई बैटरी दोनो को एक साथ इन्वेंटर में जोड़ सकते है

Unknown said...

Mere pass luminous Electra 665 hai usme mains aur ups dono on dikha rha hai aur lite jane ke baad dc ka face bhi left se raghit ho jata hai isme ap kuch madad kar sakte hai meri

Unknown said...

Sar mere pass v guard 1050 inverter hai usame Jo an of wali batam hai o light rahane par ya na rahane par apane aap an ad ho rahi hai

फेसबुक पर किसी भी अनजान लड़की से बात कैसे शुरू करे हिंदी में पूरी जानकारी

हेलो दोस्तों, आज मैं एक बार फिर से आप लोगो के साथ अपनी एक नई पोस्ट और नई जानकारी लेकर हाजिर हो गया हूँ. आज मैं आपको बताने वाला हूँ की आप फे...