अंदर की बात

यहां पर आपको जनरल नॉलेज , मोबाइल एप्लीकेशन, इंटरनेट नॉलेज, त्यौहार, हिन्दू रीती रिवाज के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी. इसलिए हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करना ना भूले

Wednesday, 3 January 2018

लोहरी का त्यौहार क्यों मनाया जाता है हिंदी में पूरी जानकारी


हेलो दोस्तों , मैं एक बार फिर से हाजिर हुआ हूँ अपनी एक नयी पोस्ट लेकर जिसमे मैं आप सब को बताउगा कि लोहरी का त्यौहार क्यों मनाया जाट है. मैंने ये पोस्ट इसलिए लिखनी की सोची क्योकि लोहरी का त्यौहार नजदीक है और हमारे बच्चे ये जरूर जानना चाहते है कि लोहरी का त्यौहार मानाने के पीछे आखिर इतिहास क्या है.
why we celebrate lohri
lohdi ka tyohaar kyo manaya jata hai

वैसे तो आप सभी जानते है कि लोहरी का त्यौहार 13 जनवरी को मनाया जाता है लेकिन क्या आप ये जानते है कि इस त्यौहार का इतिहास क्या है . नहीं जानते तो कोई बात नहीं, मैंने आज कि ये पोस्ट इसलिए लिखी है कि आप लोहरी का इतिहास जान जाओ और ये भी जान जाओगे कि लोहरी का त्यौहार मनाया क्यों जाता है.  वैसे तो लोहरी का त्यौहार मनाने के पीछे बहुत सी कथाये प्रचलित है जिनमे से कुछ मैंने निचे बतायी है


लोहरी का इतिहास :-

ऐसा कहा जाता है कि लोहरी संत कबीर कि पत्नी लोई से संभंधित है. तो वही कुछ लोगो का कहना है कि लोहरी शब्द कि उत्पति होलिका की बहन के नाम पर हुआ मानते है. ऐसा कहा जाता है कि होलिका कि बहन आग से बच गयी थी जबकि खुद होलिका जल गयी थी. एक और गाथा है कि लोहरी का त्यौहार प्रजापति दक्ष की बेटी योगगिनी के दहन की याद में भी मनाया जाता है. वही कुछ लोग इस समय फसल पूरी तरह से पक कर तैयार हो जाती है तो इसी ख़ुशी में लोहरी का त्यौहार मनाते है


कहाँ और कैसे मनाया जाता है :-

लोहरी का त्यौहार वैसे तो पुरे भारत में मनाया जाता है लेकन खासकर देखा जाये तो ये केवल उत्तरी भारत का त्यौहार है .लोहरी का त्यौहार पंजाबियों का त्यौहार माना जाता है और ये त्योहार हरियाणा , पंजाब, हिमाचल प्रदेश और जम्मू में बड़े ही हर्षोउल्लास से माने जाता है. भारत से बाहर रहने वाले लोग भी इस त्यौहार को मनाते है.

जैसा कि आप सभी जानते है कि लोहरी का त्यौहार 13 जनवरी को मनाया जाता है यानि कि मकर सक्रांति के दिन से एक दिन पहले .  13 जनवरी कि रात को किसी खुली जगह पर लकड़ियों में आग लगाकर इसके चारो तरफ लोग इकठ्ठा होते है और आग सकते है. पंजाबी लोग आग के चारो तरफ घूम कर गिद्दा करते है और खूब नाचते है. बच्चे इन सब का आनंद लेते है.


इस रात को रेवड़ी , मूंगफली, आदि का प्रसाद सबमे बाटा जाता है . कुछ बड़े बुजुर्ग का अग्नि के सामने अपने बच्चो की शादी की इच्छा मनोकामना करते है और जिन लड़के या लड़कियों की  शादी के बाद पहली लोहरी होती है उनका रूप तो देखने को ही बनता है . वो नजारा ही कुछ अलग होता है. अगर आपको इन सब नजारो का मजा लेना है तो आप लोहरी वाली रात पंजाब में रुकिए . कसम से कहता हों की मजा आ जायेगा आपको.

तो ये कुछ होता है लोहरी वाली रात को.

 उम्मीद करूँगा कि आपको मेरी ये पोस्ट पसंद आयी होगी और आप सब ये जान भी गए होंगे कि लोहरी क्यों और कैसे मनाई जाती है. अगर आपको मेरी इस पोस्ट से संभंधित कोई भी सवाल है तो आप मुझे कमेंट कर के बता सकते है . मैं आपकी कमेंट का इंतज़ार करूँगा. धन्यवाद 

No comments:

Earn Talktime Application का सच || Earn Talktime Real or Fake

हेल्लो दोस्तों, आज मैं आपके सामने एक बार फिर से अपनी एक नई पोस्ट और नयी जानकारी लेकर हाजिर हो गया हूँ। आज की मेरी ये पोस्ट उन सभी लोगो...